सुनो दोस्तों

Just another Jagranjunction Blogs weblog

46 Posts

3 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 25396 postid : 1333939

बूंदों का परिवार नदी

Posted On: 8 Jun, 2017 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

* बूंदों का परिवार नदी*

********************

मौजों का त्यौहार नदी है |

बूंदों का परिवार नदी है |

बदली को परबत चूमे तो ,

हो लेती शर्मसार नदी है |

कूल किनारे आँख मिलाते,

लहरों का अभिसार नदी है |

पल पल की तहजीब निराली,

सदियों का व्यवहार नदी है |

बोझा ढोते कुदरत थकती,

कुदरत का इतवार नदी है |

प्यास हमारे प्राण न हर ले,

रक्षा की दीवार नदी है |

न धरा नदी न पानी नदी,

इन दोनों का प्यार नदी है |

आखर के सागर में डूबे,

‘सुशीरंग’ की पतवार नदी है |

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran